शहर के कलाधर्मियों ने किया चिंतन ...अब सृजन की सतरंगी धाराओं के संग-संग चलेगी ‘कश्ती’ फोटो भी